चंडीगढ़ हरियाणा होम

एचएसवीपी ने हाई फाइव मॉल में अवैध निर्माणों को तोड़ा

पंचकूला। शनिवार सुबह एचएसवीपी का इंफोरर्समेंट विंग जेसीबी और कर्मचारियों के साथ सेक्टर 5 हाई फाइव मॉल में पहुंचा। अमले के पहुंचते ही प्रबंधकों में हडक़ंप मच गया। प्रबंधकों ने अवैध निर्माण तोडऩे से रोकने की भरपूर कोशिश की, लेकिन एचएसवीपी की जेसीबी रुकी नहीं। मॉल की एंट्रेस के अनुसार सीढ़ी को तोड़ दिया गया। रेस्टोरेंटकी एंट्रेस बंद कर दी गई। इस दौरान प्रबंधकों ने विंग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ बदसलूकी की।
दरअसल शुक्रवार देर शाम इओ आशुतोष राजन ने सेक्टर 5 स्थित हाई फाइव मॉल का अचानक दौरा किया था। इस मॉल में कई वायलेशन देखकर इओ ने तुरंत निर्देश दिये थे कि 24 घंटे में इस अनियमितताओं को तोड़ दिया जाएगा। उन्होंने माल के साथ लगती एचएसवीपी की जमीन पर पाॢकंग शुल्क काटते हुए पर्चियों को भी अपने कब्जे में लिया था। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि मॉल मलिकों के खिलाफ सरकारी जमीन पर कब्जा करके पाॢकंग शुल्क वसूलने पर केस दर्ज करवाने के लिए पुलिस को शिकायत देने कहा था। मॉल के एंट्रेस गेट पर लगाए साइन बोर्ड, फव्वारे और बिजली के मीटर के लिए बनाए गए कमरे को अवैध बताते हुए उन्होंने सरकारी अमले को जेसीबी मशीन से हटाने के निर्देश दिए थे। बिल्डिंग प्लान के तहत मॉल के नक्शा देखकर अधिकारियों को चैक करने के लिए कहा था। मॉल की एंट्रेस के अनुसार सीढ़ी को चैक करने का कहा गया था। मॉल मे रेस्टोरेंट की एंट्रेस बाहर होने पर उसे तुरंत रास्ता बंद करने का निर्देश दिया था।
संपदा अधिकारी आशुतोष राजन ने बताया कि अवैध तौर पर पार्किंग शुल्क लेने, इंफोरर्समेंट विंग के कर्मचारियों से बदसलूकी करने और सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के चलते सेक्टर 5 थाना प्रभारी को पत्र लिखकर मॉल के प्रबंधकों पर एफआइआर दर्ज करने के लिए कहा है।