चंडीगढ़ देश पंजाब राजनीति हरियाणा होम

रंजीता मेहता ने विधायक से मांगा त्यागपत्र 

Akshay Jadhav
पंचकूला। ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की संयोजक रंजीत मेहता ने पंचकूला के विधायक ज्ञान चंद गुप्ता के उस ब्यान की कड़ी निंदा की है, जिसमें उन्होंने कहा है कि अधिकारी अतिक्रमण को लेकर उनकी सुनवाई नहीं कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विधायक जी पौने पांच से अधिक समय बीत जाने के बाद यह ब्यान देकर यह साबित कर रहे हैं कि वह बिलकुल नाकारा साबित हुये हैं और वह विधानसभा में कोई भी काम नहीं करवा पाये। केवल नींव पत्थर रखकर लोगों को बेबकूफ बनाने के अलावा कोई काम नहीं करते। रंजीता मेहता ने कहा कि जिस अतिक्रमण की बात विधायक महोदय कर रहे हैं, वह कहीं ना कहीं उनकी शह पर हो रखा है, क्योंकि जब भी किसी अधिकारी ने इस अतिक्रमण को हटाने की कोशिश की, तो विधायक ने उस अधिकारी को ही सीट से हटवा दिया, जिसका ताजा उदाहरण एचएसवीपी के तत्कालीन संपदा अधिकारी आशुतोष राजन है। जोकि बड़े-बड़े अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे थे, जोकि विधायक को गंवारा नहीं गुजरी। रंजीता मेहता ने कहा कि शहर में लगातार बढ़ता अतिक्रमण विधायक जी की शह पर हो रहा है। इसलिये उन्हें तो त्यागपत्र दे देना चाहिए। उन्होंने कहा कि विधायक ने सेक्टर 19 के लोगों को नरक की जिंदगी जीने के लिये छोड़ दिया है और उनके द्वारा सेक्टर 19 के लोगों के लिये कोई भी वैकल्पिक रास्ता देने से स्पष्ट इंकार करना बताता है कि विधायक को आगामी चुनावों में इस सेक्टर के लोगों की कोई जरुरत नहीं है। यदि जरुरत होती, तो वह इस सेक्टर को पंचकूला का हिस्सा समझते हुए कोई ना कोई रास्ता अवश्य निकलवाता, परंतु उन्होंने ऐसा नहीं किया। रंजीता मेहता ने भाजपा नेतृत्व से कहा है कि वह ऐसे विधायक को टिकट ना दें, जिन्हें जनता के दुख दर्द से कोई लेना-देना ही नहीं है।