चंडीगढ़ ट्राई सिटी देश राजनीति हरियाणा होम

जिला पंचकूला बना क्राइम का अड्डा

पंचकूला। भाजपा सरकार का प्रदेश को क्राइम फ्री करने का नारा खोखला साबित हो चुका है व हरियाणा की राजधानी से सटे जिला पंचकूला में,भाजपा के शासन में आने बाद 5 वर्षो में 12.7 प्रतिशत क्राइम रेट बढ़ा है जिसका खुलासा विजय बंसल को एनएसयूआई में राष्ट्रीय संयोजक दीपांशु बंसल द्वारा प्राप्त जानकारी में हुआ।विजय बंसल ने इस आरटीआई की सूचना प्राप्त होने के बाद कालका व पंचकूला विधायक,सांसद अंबाला व राज्य सरकार को आड़े हाथ लिया है।बंसल ने कहा जहां एक तरफ सरकार क्राइम फ्री स्टेट का नारा देती है वही जिला पंचकूला में क्राइम रेट में वृद्धि हुई है जबकि भाजपा के नारे के अनुसार यह कम होना चाहिए था।विजय बंसल ने कहा कि आए दिन अवैध माइनिंग-गैंगवार्स-रेप-चोरी-डकैती-नशा तस्करी जैसी आपराधिक घटनाओं से हर कोई सहमा रहता है।आपराधिक घटनाओं पर नकेल कसने में सरकार व प्रशासन विफल साबित हो गया है।
हैरानी के बात है कि पहले तो जिला पुलिस प्रशासन यह जानकारी देना ही नही चाह रहा था।इस आरटीआई के बाद भाजपा सरकार की नाकामी उजागर हो चुकी है।विजय बंसल ने बताया कि 11 मार्च 2019 को दीपांशु ने आरटीआई सूचना मांगी,पुलिस प्रशासन ने कोई जवाब नही दिया तो 26 अप्रेल को प्रथम अपील डाली जब फिर भी जवाब नही दिया तो 1 जून को मामला सूचना आयोग के समक्ष भेजा फिर सूचना आयोग ने 26 जून को दीपांशु को पत्र भेजकर बताया कि आयोग इस बात से संतुष्ट है कि बंसल को सूचना नही दी गई जिसके बाद 25 जुलाई तक राज्य जन सूचना अधिकरी एसीपी मुख्यालय पंचकूला पुलिस को कमेंट्स देने के लिए कहा जिसके बाद जिला पंचकूला पुलिस ने दीपांशु को 25 जुलाई की तारीख में सूचना उपलब्ध करवाई।
• क्या सूचना मांगी थी आरटीआई में?…
बंसल ने आरटीआई में पूछा था कि जिले में कुल कितने आपराधिक मामले दर्ज हुए,कितने मामलों का समाधान हुआ व कितने मामले विचाराधीन है।जिले का अपराध दर कुल कितना हुआ।ऐसे कुल तीन प्रश्न बंसल ने पूछे थे जिसपर विभाग ने 5 महीने बाद सूचना आयोग के हस्तक्षेप के बाद सूचना उपलब्ध करवाई।
• 2009 से 2014 तक 8327 मुकदमे थे,2014 से 2019 में बढ़कर हुए 9386….
विजय बंसल ने बताया कि वर्ष 2009 से 2014 तक कुल 8327 मुकदमे दर्ज हुए थे,जबकि भाजपा के शासन में आने बाद इन मामलो में 1059 मामलों की वृद्धि हुई व क्राइम रेट 12.7 प्रतिशत से बढ़कर 9386 पहुंच गया।थाना सेक्टर 5 में 2685,पिंजोर में 1645,चंडीमंदिर में 1453,सेक्टर 14 में 1154,कालका में 790,सेक्टर 20 में 730,रायपुरानी में 720,मनसा देवी में 371,महिला थाना में 273 मामले दर्ज हुए।
• थाना पिंजोर में सबसे ज्यादा 27 प्रतिशत क्राइम रेट बढ़ा…….
विजय बंसल ने बताया कि जिला पंचकूला में 9 थाने है जिनमे सबसे ज्यादा क्राइम रेट थाना पिंजोर में बढ़ा है।2009 से 2014 तक 1295 मामले दर्ज हुए थे जबकि 2014 से 2019 तक 27 प्रतिशत क्राइम रेट बढ़कर 1645 मामले दर्ज हुए जिनमे कुल 350 मामलों की वृद्धि हुई व पूरे जिले में सबसे ज्यादा हुई।इसके साथ संख्या में सबसे ज्यादा मामले सेक्टर 5 पुलिस थाने में हुए जिनमे 2685 मामले दर्ज हुए जबकि 2009 से 2014 तक भी सबसे ज्यादा मामले इसी थाने में दर्ज हुए।इसके साथ सेक्टर 14 थाना,सेक्टर 20 थाना में भी क्राइम रेट में वृद्धि हुई जबकि महिला थाना पंचकूला 2014 के बाद बना जिसमे कुल 273 मामले दर्ज हुए।