चंडीगढ़ ट्राई सिटी देश पंजाब राजनीति हरियाणा होम

नगर निगम खाली करवायेगा डंपिंग ग्राउंड

रत्नेश मलकानियां, पंचकूला
घग्गर पार के सेक्टरों में रहने वाले रेजिडेंट्स को जल्द ही डंपिंग ग्राउंड, सेक्टर-23 से निजात मिलेगी। पंचकूला नगर निगम आगामी हफ्ते में डंपिंग ग्राउंड में लगे कचरे के ढ़ेर को उठाने के लिए किसी एजेंसी को काम अलॉट कर देगा। एमसी को इस काम के लिए दो एजेंसियों के आवेदन मिले हैं। सिलेक्ट एजेंसी को डेढ़ साल में डंपिंग ग्राउंड से यह सारा कचरा उठाना होगा। नगर निगम करीब 20 करोड़ रुपए में यह काम अलॉट करने जा रहा है। इससे घग्गर पार के सेक्टरों में रहने वाले रेजिडेंट्स को राहत मिलेगी। नहीं तो डंपिंग ग्राउंड से उठने वाली गंदी बदबू और गर्मियों के दिनों में इसमें आग लगने से होने वाले वायु प्रदूषण से रेजिडेट्स परेशान रहते हैं। डंपिंग ग्राउंड से निकली मिट्टी ईंट-भ_े वालों और प्लास्टिक सीमेंट फैक्टरियों को फ्यूल तैयार करने के लिए दिया जाएगा। कंस्ट्रक्शन मैटीरियल लैंड फिल साइट्स पर डाला जाएगा। सेक्टर-23 में डंपिंग ग्राउंड से पूरा कचरा उठने के बाद यहां पार्क या कोई अन्य प्रोजेक्ट डेवलप किया जाएगा। इस बारे में फाइनल प्लानिंग हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण तैयार करेगा।
नगर निगम शहर में कचरे के निपटारे के लिए विशेष प्रयास कर रहा है। कोशिश है कि डंपिंग ग्राउंड तक कम से कम कचरा पहुंचे। इसके लिए एमसी ने पूरे निगम एरिया में गीला और सूखा कचरा अलग-अलग लेने का प्रोसेस शुरू कर दिया है। लोगों को हरे रंग के डस्टबिन में गीला कचरा और नीले रंग के डस्टबिन में सूखा कचरा देने को कहा जा रहा है। गीला और सूखा कचरा अलग-अलग न करने वाले घरों से डोर टू डोर गारबेज कलेक्ट करने वाले कचरा नहीं उठा रहे हैं। अभी लोगों को गीला और सूखा कचरा अलग-अलग डस्टबिन में कलेक्ट करने के लिए अवेयर किया जा रहा है। लेकिन पंचकूला नगर निगम जल्द ही इन लोगों के चालान करने का अभियान शुरू करेगा। गीला और सूखा कचरा अलग-अलग न लेने वाले डोर टू डोर गारबेज कलेक्टर्स पर भी जुर्माना किया जाएगा। गीले कचरे से खाद बनाने के लिए नगर निगम की ओर से तीन अलग-अलग सेक्टरों में पिट्स बनवाई गई हैं।
इसके अलावा ग्रुप हाउसिंग सोसायटियों को भी अपने परिसर में गीले कचरे से खाद बनाने के लिए कहा गया है। सोसायटियां गीले कचरे से खाद बनाकर इन्हें अपने गार्डंस में इस्तेमाल कर सकती हैं। पंचकूला नगर निगम भी डोर टू डोर गारबेज कलेक्शन से जमा हुए गीले कचरे की खाद बनवा रहा है, जिसे जल्द ही पैकिंग बनवाकर न्यूनतम रेट में गार्डनिंग करने वलों को बेचा जाएगा।
वहीं सॉलिड वेस्ट के निपटारे के लिए पंचकूला नगर निगम की एकाध हफ्ते में ही एजेंसी सिलेक्ट कर झूरीवाला में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट बनाने का काम शुरू करने की योजना है। हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए कोड ऑफ कंडक्ट की घोषणा से पहले मुख्यमंत्री 9 सितंबर को भी कुछ प्रोजेक्ट का उद्घाटन और नींव पत्थर रख सकते हैं। ऐसा माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री 9 सितंबर को कुछ अन्य प्रोजेक्ट्स के साथ झूरीवाला में प्रस्तावित सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट का नींव पत्थर भी रख सकते हैं। इस प्रोजेक्ट के लिए एजेंसी सिलेक्ट करने का प्रोसेस जोर-शोर से चल रहा है। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट के लिए दो एजेंसियों ने अप्लाई किया है। इसकी टेक्निकल बिड ओपन कर दी गई। एकाध दिन में फाइनेंशियल बिड किसी एक एजेंसी को सिलेक्ट किया जा सकता है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल से शहर में करीब आधा दर्जन प्रोजेक्ट के उद्घाटन व नींव पत्थर रखने के लिए 9 सितंबर को समय मांगा गया है। पंचकूला के विधायक ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि अभी सीएम के पंचकूला विजिट की कन्फर्मेशन नहीं मिली है। अगर सीएम 9 सितंबर को पंचकूला आते हैं तो उनसे सेक्टर 24 व 26 के चौक से घग्गर नदी पर बनने वाले तीसरे पुल और साथ ही सेक्टर 20 व 21 की डिवाइडिंग रोड से जीरकपुर होते हुए एयरपोर्ट रिंग रोड से मिलने वाली सडक़ का शिलान्यास करवाया जाएगा।