चंडीगढ़ ट्राई सिटी देश पंजाब राजनीति हरियाणा हिमाचल प्रदेश होम

जर्नलिस्ट क्लब की ओर से सुधा भारद्वाज का सम्मान

अक्षय धीमान, पंचकूला
जर्नलिस्ट क्लब की ओर से हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सुधा भारद्वाज का सम्मान समारोह सेक्टर 3 के एक होटल में आयोजित किया गया। जिसमें पंचकूला जर्नलिस्ट क्लब के प्रधान अशोक शर्मा उपप्रधान उमंग श्योराण, वरिष्ठ पदाधिकारी संजीव रामपाल और वरिष्ठ पत्रकार कश्मीर चंद मलकानीया ने सुधा भारद्वाज का स्वागत किया। उमंग श्योराण ने महिला कांग्रेस की गतिविधियां और सुधा भारद्वाज द्वारा किए गए कामों पर प्रकाश डाला।
हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सुधा भारद्वाज ने कहा है कि जिला स्तर पर महिला कांग्रेस को मजबूत करने के लिए पदाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं और जो महिला पदाधिकारी सही ढंग से काम नहीं करेंगी, उन्हें पद से हटा दिया जाएगा। सुधा भारद्वाज ने कहा कि एक महीने तक महिला पदाधिकारियों के कामों की समीक्षा की जाएगी, यदि वह अपनी कार्यप्रणाली में खरी नहीं उतरी, तो पद मुक्त कर नई महिला पदाधिकारियों की नियुक्तियां की जाएगी। सुधा भारद्वाज शुक्रवार को सेक्टर 3 में आयोजित कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रही थी। उन्होंने कहा कि हरियाणा महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष का पदभार संभाले हुए उन्हें अभी महज ढाई माह ही हुए हैं। इसी दौरान हरियाणा विधानसभा के चुनाव भी आ गए। मगर उन्होंने सुमित्रा चौहान के अचानक पद से त्यागपत्र देकर भाजपा में चले जाने के तत्काल बाद मिली इस जिम्मेदारी को पूरी निष्ठा, ईमानदारी और जिम्मेदारी से निभाने का प्रयास किया है । और आगे भी उनका यही प्रयास रहेगा कि वह पार्टी आलाकमान सोनिया गांधी , राहुल गांधी,प्रियंका गांधी, महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव , प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा तथा विधायक दल के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा की उम्मीदों पर खरा उतरें, तथा प्रदेश कांग्रेश के कंधे से कंधा मिलाकर चलते हुए हरियाणा महिला कांग्रेस को एक बुलंदियों की ओर ले जाएंं। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल देशवासियों के साथ एक धोखा है तथा इसकी आड़ में जनता का असल मुद्दों की ओर से ध्यान भटकाने का प्रयास किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि आज देश की जनता इस सरकार से लगातार बढ़ रही महंगाई, रुपए की गिरती कीमत और कमजोर हो रही अर्थव्यवस्था , बढ़ती बेरोजगारी , महिलाओं खासकर बेटियों के प्रति बढ़ती दुराचार की घटनाओं की संख्या, गरीब किसानों की समस्याओं के बारे में ना पूछे , बस इन सब से ध्यान हटाने के लिए इस समय यह बिल पारित करवा दिया गया और पूरे देश को अकारण ही एक बेमतलब की उठी आग में झोंक कर रख दिया गया है। सुधा भारद्वाज ने आगे कहा कि आज पूरा देश निर्भय और उस जैसी अनेक बेटियों को इंसाफ दिलवाने की जद्दोजहद कर रहा है। उन्होंने कहा कि सबसे निराशाजनक बात तो यह है कि जहां-जहां देश में भाजपा शासित सरकारें हैं, वहां वहां महिलाओं के उत्पीडऩ की घटनाएं सबसे ज्यादा है । हरियाणा भी इससे अछूता नहीं है । यहां भी महिलाओं के प्रति भी अपराध में लगातार वृद्धि हो रही है। जिसके प्रति यहां की सरकार भी गंभीर नहीं है । उन्होंने आगे कहा कि इसी प्रकार हरियाणा बेरोजगारी के मामले में देश में दूसरे नंबर पर है। यहां के बेरोजगार जहां अपने लिए नौकरी की मांग करते हुए सरकार के मंत्रियों नेताओं के पीछे पीछे दौड़ रहे हैं, वहीं दूसरी ओर नौकरी पाए लोग अपनी अपनी नौकरियां बचाने के लिए संघर्ष करते हुए पुलिस की लाठियां तथा पानी की बौछारें खा रहे हैं । ऐसा करते समय महिलाओं तक को नहीं बख्शा जाता । इस लिए भाजपा राज में उसका अपना ही नारा कि बेटी पढाओ बेटी बचाओ दम तोड़ गया है।
इस अवसर पर आशीष रामपाल, योगेंद्र त्रिपाठी, रुपिंदर रावत, शहबाव सैमुअल, महेश रमोला, शीतल शर्मा, अजय कुमार, सारिका तिवारी, संत अरोड़ा, विजय कुमार, रमेश गोयत, अशोक कुमार अमरजीत कुमार, भरत भंडारी, कुलवंत शर्मा भी मौजूद थे।