चंडीगढ़ ट्राई सिटी देश पंजाब हरियाणा होम

गौरव शर्मा की बहादुरी देखते हुए हरियाणा राज्य सूचना आयोग आयुक्तों ने किया सम्मानित

रत्नेश मलकानियां, चंडीगढ़।
हरियाणा राज्य सूचना आयोग, चंडीगढ़ के सेक्टर 8 स्थित कार्यालय में असिस्टेंट पद पर कार्यरत 27 वर्षीय कर्मचारी राजप्रीत की आयोग की दूसरी मंजिल पर काम करने के दौरान उसके कपड़ो के हीटर की चपेट में आने से आग लग गई थी, जिसके बारे उसे तब पता चला, जब उसे आग की लपटों ने घेर लिया व उस समय वह गर्भवति थी व तब आयोग की दूसरी मंजिल पर मदद के लिए कोई कर्मचारी मौजूद न होने के कारण वह भागते हुए भूतल पर आ गई, पर उसे आग से जिन्दा जलता देखकर आयोग का चौकीदार इतना घबरा गया कि वह उसे बचाने की बजाय भाग खड़ा हुआ, जिस पर राजप्रीत ने आयोग की पहली मंजिल पर बने श्री जय सिंह बिश्नोई, सूचना आयुक्त के कार्यालय में अपनी जान बचाने के लिए घुसने की कोशिश की व इसी दौरान आयोग में उस समय अपने कार्यालय में आयोग के काम में लगे हुए राज्य सूचना आयुक्त लेफ्टिनेंट जनरल कमलजीत सिंह के निजि सहायक गौरव शर्मा ने अपनी साथी कर्मचारी को आग में जिन्दा जलते देखकर,अपनी जान की चिंता न करके तुरंत उसके शरीर से जलते कपड़ो को अपने हाथों से हटाया व उसकी आग बुझाकर उसे चादर से लपेटा व तुरंत उसके पति को इस हादसे की सूचना देकर उसे गंभीर हालत में हस्पताल पहुँचाने का इंतजाम किया व इस दौरान गौरव शर्मा खुद भी घायल हो गया व उसका कुछ शरीर व हाथ बुरी तरह से जल गए पर उसने राजप्रीत को हस्पताल भेजने के बाद ही खुद अपना एक निजि हस्पताल में इलाज करवाया व गौरव शर्मा के इस सराहनीय व साहसी कार्य से गर्भवती महिला व उसके पेट में पल रहे बच्चे की जान बच गई, जोकि अभी तक हस्पताल में डाक्टरों की निगरानी में स्वस्थ हो रही है ! सूचना आयोग के कार्यालय के सारे कमरों में सूचना के अधिकार के मामलों की कागजों की हजारों महत्वपूर्ण फ़ाइलें पड़ी रहती हैं व यदि गौरव शर्मा ने राजप्रीत को लगी आग को न भुझाया होता तो कुछ ही क्षणों में पूरा दफ्तर आग लगने से जल जाता और भयंकर जान व मॉल की हानि होती! कल दिनांक 12.02.2020 को हरियाणा राज्य सूचना आयोग में गौरव शर्मा की बहादुरी व नेकदिली को देखते हुए उसे हरियाणा राज्य सूचना आयोग के चार सूचना आयुक्तों श्री भूपेंद्र कुमार धर्मानी, श्री अरुण सांगवान, लेफ्टिनेंट जनरल कमलजीत सिंह और श्री जय सिंह बिश्नोई जी ने उसे बहादुरी व प्रशंसा पत्र देकर उसका हौसला बढ़ाया व इस मौके पर आयोग के सूचना आयुक्त श्री अरुण सांगवान जी ने अपनी ओर से 5100/- की धन राशि देकर गौरव शर्मा को भविष्य में आगे बढऩे का आशीर्वाद दिया।